बॉलीवुड में पाकिस्तानी सिंगर्स बैन करने की मांग, भारत के पैसों का इस्तेमाल हमारी सेना के खिलाफ होता है !

5 months ago

पुलवामा हमले ने देश का दिल छलनी कर दिया है। आतंकी हमले में 44 जवान शहीद हुए हैं। पूरे देश में आतंक के आका पाकिस्तान और वहां के आतंकवादियों से बदला लेने की मांग उठ रही है। इसी दौरान लोग इस बात की भी मांग कर रहे हैं कि पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में बैन कर दिया जाए। पाकिस्तानी स्टार्स और सिंगर्स बॉलीवुड से पैसा कमाकर ले जाते हैं और फिर उन पैसों का इस्तेमाल भारत की सेना के खिलाफ किया जाता है। 

पिछले दिनों कंगना रनोट ने एक इंटरव्यू में कहा था कि पाकिस्तानी कलाकार जो इंडिया से मोटी रकम लेकर जाते हैं उसका इस्तेमाल हमारे ही देश और आर्मी के खिलाफ होता है। पाकिस्तानी कलाकार जो टैक्स चुकाते हैं उसका बड़ा हिस्सा उनकी आर्मी को जाता है और फिर वो भारत की सेना का नुकसान करते हैं। कंगना का ये बयान सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था।  एक तरफ भारतीय सिंगर्स बॉलीवुड फिल्मों में पाकिस्तानी आर्टिस्ट्स के कंप्लीट बैन की मांग करते हैं, उन्हें लगता है इंडियन सिंगर्स को काम नहीं मिलता है।  तो वहीं कई लोगों को लगता है कि राहत फतेह अली ख़ान और आतिफ असलम जैसे पाकिस्तानी सिंगर्स के साथ काम करना बिल्कुल भी ग़लत नहीं है। 

पाकिस्तानी सिंगर्स को बॉलीवुड इतना काम मिलता है कि भारत के सिंगर्स बेरोजगार हो रहे हैं। कुछ दिन पहले  सोनू ने एक इंटरव्यू में कहा था कि, ''कई बार मुझे लगता है कि काश मैं पाकिस्तान से होता, तो मुझे भारत से ज्यादा ऑफर्स मिलते। साथ ही सोनू ने आगे कहा कि, आजकल सिंगर्स को शोज करने के लिए म्यूजिक कंपनी को पैसे देने पड़ते हैं। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो वो किसी और सिंगर को ले आएंगे और फिर आप पीछे रह जाएंगे। लेकिन पाकिस्तानी सिंगर्स के साथ ऐसा नहीं होता है। आतिफ असलम जो मेरे दोस्त हैं और राहत फतेह अली खान इनसे कंपनी किसी शोज के पैसे नहीं मांगती हैं। अब सोनू की बातों से साफ जाहिर है उन्हें काम ना मिलने का मलाल भी है। 

ALSO READ : आतंकवादियों की कमर तोड़ने वाली भारतीय फिल्मों को आतंक का आका पाकिस्तान बैन कर देता है !

साथ ही उनका दर्द भी जागा है। बता दें कि आजकल सोनू को इंड्स्ट्री में काम भी नहीं मिल रहा है। फिल्म डायरेक्टर्स और म्यूजिक कंपनीज अलग अलग सिंगर्स को मौका दे रही है। ऐसे में सोनू का दर्द छलका है और कहा है कि इंडिया में सिंगर्स को कम तवज्जो मिल रही है औऱ पाकिस्तानी सिंगर्स को ज्यादा बढ़ावा दिया जा रहा है। सोनू का कहना है कि अगर वो पाकिस्तान से होते तो शायद उन्हें ज्यादा गाने मिलते। ऐसा सोनू ने इसीलिए कहा है क्योंकि आतिफ असलम और राहत फतेह अली खान जैसे सिंगर्स को बॉलीवुड में गाने का मौका मिल रहा है। सोनू बॉलीवुड के मशहूर सिंगर्स में से एक रहे हैं। उन्होंने अबतक कई हिट गाने गाए हैं। आलम ये था कि हर दूसरी फिल्म में सोनू की आवाज को लिया जाता था। पर अब ऐसा नहीं हो रहा है। सोनू को इंड्स्ट्री में ऑफर्स भी नहीं मिल रहे हैं।