Birthday Spl - परवीन बाबी की खातिर महेश भट्ट ने अपने परिवार को छोड़ दिया था !

3 weeks ago


नीतू कुमार -  4 अप्रैल को परवीन बॉबी का जन्मदिवस होता है। अगर वो जीवित होती तो 70 साल की होती। परवीन बाबी बॉलीवुड की मर्लिन मुनरो कहलाती थीं। फिल्मों के साथ अपने निजी संबंधों के लिए भी चर्चा में रहीं।

बॉलीवुड के दिग्गज फिल्म मेकर महेश भट्ट का संबंध परवीन बाबी से भी रहा। 1977 में परवीन  और महे्श भट्ट की लव स्टोरी शुरु हुई थी। महेश भट्ट अपनी वाइफ किरण और दो बच्चो पूजा और राहुल को छोड़कर परवीन बाबी के साथ लिव इन में रह रहे थे। महेश भट्ट के साथ भी परवीन खुद को बहुत असुरक्षित महसूस  करती थी। महेश शादीशुदा थे और परवीन को लगता था कि वो उन्हें छोड़कर चले जाएंगे।


 महेश के साथ रहते हुए ही परवीन को schizophrenia के दौरे पड़ने शुरू हुए थे। महेश को समझ में आने लगा था कि परवीन के साथ सबकुछ नॉर्मल नहीं है। फिल्म शान के सेट पर जब पहली बार परवीन को दौरा पड़ा था तब महेश भट्ट ने ही उन्हें संभाला था। महेश भट्ट ने एक इंटरव्यू में कहा था, ''जब मैंने घर के अंदर गया तो शाम ढल रही थी. वह अपने शान वाले के ड्रेस में थी। हाथ में चाकू लिए पड़ी थी। डर से वो कांप रही थी। वह उस समय एक जानवर की तरह लग रही थी परवीन और मैंने कभी उसे इस रूप में नहीं देखा था. उसने फुसफुसाकर मुझसे कहा था- महेश, वे मुझे मारने आ रहे हैं, जल्दी से दरवाजा बंद कर लो"।





महेश भट्ट के मुताबिक परवीन के मुंह से ये सुनते वो उनकी खौफजदा आंखों में मौत को देख रहे थे। महेश भट्ट परवीन के दौरे को देखकर लाचार थे। महेश समझ गए कि परवीन को इलाज की जरूरत है। वो उन्हें आध्यात्मिक गुरू यू जी कृष्णमूर्ति के पास ले गए थे और वहां आश्रम में कुछ दिनों तक रहने बाद परवीन ठीक होने लगी। लेकिन धीरे धीरे महेश भट्ट उनसे दूर होने लगे और परवीन फिल्मों में काम करती रही। बीमार परवीन का साथ छोड़ने पर उन दिनों महेश भट्ट की काफी आलोचना हुई थी। 



1982 में महेश भट्ट की फिल्म अर्थ रिलीज हुई। ये फिल्म महेश की अपनी कहानी थी। फिल्म के रिलीज होते ही महेश भट्ट पर ये आरोप लगने लगा कि उन्होंने परवीन के स्टारडम का इस्तेमाल किया। परवीन की जिंदगी की निजी बातों को महेश ने फिल्मी परदे पर उतारा था। परवीन इस बात से काफी दुखी थी..और फिर उन्होंने ब़ॉलीवुड को ही छोड़ने का फैसला ले लिया।  20 जनवरी 2005 को अकेलेपन और कई बीमारियों की वजह से परवीन की डेथ हो गई । महेश भट्ट परवीन को कभी भूल नहीं पाए। भले ही परवीन का बुरे वक्त में उन्होंने साथ छोड़ा था लेकिन जब परवीन दुनिया से दूर चली गई तो  उनकी अर्थी को कांधा देने पहुंचे। बाद में महेश ने परवीन का याद में वो लम्हे फिल्म बनाई। इस फिल्म में इन दोनों की इंटेंस लव स्टोरी को दिखाया गया। कंगना ऱनौत ने परवीन बाबी का रोल किया था और महेश भट्ट के रोल में थे शाइनी आहूजा। परवीन बाबी से अलग होने के बाद महेश भट्ट सोनी राजदान के प्यार में पड़ गए थे। महेश और सोनी की दो बेटियां हैं शाहीन और आलिया।