PM मोदी बायोपिक को मिला 'U' सर्टिफिकेट, कल होगी रिलीज

1 week ago


बॉलीवुड एक्टर विवेक ओबेरॉय अपनी अपकमिंग फिल्म पीएम मोदी की बायोपिक से एक बार फिर पर्दे पर नजर आने वाले हैं। पीएम मोदी की बायोपिक इन दिनों खूब सुर्खियां बटोर रही हैं। पिछले दिनों ये फिल्म विवादों में फसती नजर आ रही थे लेकिन अब फिल्म का रास्ता साफ हो गया है। पीएम नरेंद्र मोदी को मंगलवार को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) से एक अनरिस्ट्रिक्टेड (यू) प्रमाण-पत्र जारी किया गया। 2 घंटे 10 मिनट और 53 सेकेंड की यह फिल्म सिनेमाघरों में 11 अप्रैल को रिलीज होगी। हाल ही में फिल्म का नया पोस्टर सामने आया है। इस पोस्टर से साफ हो गया है कि फिल्म अब सीधे 11 अप्रैल को ही रिलीज हो रही है।




आपको बता दें कि शुरूआती दौर में फिल्म का विरोध कांग्रेस पार्टी ने शुरू किया था। कंटेंट को लेकर विवाद के चलते मूवी की रिलीज पर रोक लगाने की याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई थी। मंगलवार को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने रिलीज पर रोक लगाने वाली याचिका को खारिज कर दिया है।  फिल्म में मोदी का किरदार निभा रहे अभिनेता विवेक ओबरॉय ने सुप्रीम कोर्ट के रुख की सराहना की। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "आप सभी के आशीर्वाद, समर्थन और प्यार के साथ आज हमने माननीय सुप्रीम कोर्ट में जीत दर्ज की है। आप सभी का और लोकतंत्र में हमारे विश्वास को बरकरार रखने के लिए भारतीय न्यायपालिका का विनम्र धन्यवाद।





पिछले दिनों विवेक न्यूज 24 औऱ E 24 के स्टूडियो पहुंचे थे। इस दौरान विवेक ने अपनी फिल्म को लेकर कई बातें की। फिल्म के बारे में विवेक ने कई दिलचस्प बातें बताईं। विवेक को पीएम का लुक लेने में काफी वक्त लगता था। विवेक ने बताया है कि उन्हें पीएम बनने में 6 घंटे लगते थे। उन्हें करीब 6 घंटे का मेकअप लेना पड़ता था। जिसके बाद वो कहीं जाकर पीएम बन पाते थे। कुछ लोगों को उनका यह लुक पसंद आया तो वहीं कुछ लोगों का कहना था कि वो पीएम मोदी की तरह नहीं लग रहे हैं। उन्होंने बताया पीएम बनने के लिए काफी मेहनत की थी। उनकी मेकअप टीम घंटों तक मेकअप करती थी और उसके बाद 2 घंटे मेकअप उतारने में भी लग जाते थे।


विवेक ने साथ ही ये भी कहा कि, उन्होंने पीएम बनने के लिए उनकी बोली और भाषा की बजाय उनके इमोशन को कैरी किया है। जिसमें वो उनकी तरह थोड़ा चल सकें औऱ साथ ही जब वो बात करते हैं तो किस तरह के शब्दों का प्रयोग करते हैं। ये सब विवेक फिल्म में लाने की कोशिश की। वहीं विवेक ने ये भी कहा है कि इस फिल्म के लिए उन्होंने अपना वजन भी बढ़ाया है। महज 60 दिन में फिल्म बनकर तैयार हुई है। विवेक कहते हैं कि वो फिल्म की शूटिंग सुबह 6 बजे से लेकर रात के 12 बजे तक करते थे।