सुप्रीम कोर्ट ने प्रिया प्रकाश के खिलाफ दर्ज एफआईआर की रद्द

4 months ago

रातों-रात इंटरनेट पर अपनी अदाकारी से तहलका मचाने वाली मलयालम एक्ट्रेस प्रिया प्रकाश वारियर को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत की खबर मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म 'ओरु अदार लव' के विवादित गाने 'माणिक्य मलराय पूवी' को लेकर प्रिया के खिलाफ दर्ज सभी आपराधिक मुकदमों को रद्द कर दिया है।

आरोप था कि प्रिया प्रकाश ने गीत 'मानिक्या मलाराया पूवी'  एक खास समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला है।  मलयाली फिल्म के गीत में अपनी आंखों की अदाओं से इंटरनेट पर छाने वाली अभिनेत्री प्रिया प्रकाश वारियर के खिलाफ कई जगहों पर FIR दर्ज हुई थी। मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने प्रिया प्रकाश और फिल्म के डायरेक्टर ओमर अब्दुल वहाब के खिलाफ दर्ज आपराधिक मुकदमे को रद्द कर दिया है।

प्रिया के खिलाफ हैदराबाद के दो लोगों ने फिल्‍म 'ओरु अदार लव' के एक सीन में आपत्ति जताते हुए 'अल्लाह की तौहीन' करने का आरोप लगाया है। याचिका में कहा गया है कि 'आंखें मटकाना' और 'आंख मारना' इस्लाम के खिलाफ है। प्रिया प्रकाश वारियर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका में ‘मनिक्य मलाराया पूवी’ गाने को फिल्म से हटाने की मांग की गई थी।

बता दें कि प्रिया प्रकाश 'ओरु अदार लव' से फिल्‍म इंडस्‍ट्री में डेब्यू करने जा रही हैं। प्रिया प्रकाश के खिलाफ हैदराबाद और मुंबई में एक एफआईआर दर्ज थी। जिसको सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया गया है।