पाकिस्तान में देसी गर्ल प्रियंका को लेकर मचा हड़कंप, जानने के बाद आप भी चौंक जाएंगे !

4 months ago

14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से बदला ले लिया है। पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय वायुसेना ने पाक के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक करके उनके कई आतंकी अड्डों को ध्वस्त किया और करारा जवाब दिया। जिसके बाद पूरे बॉलीवुड ने भारतीय सेना को सलाम किया था। 

ऐसे में प्रियंका चोपड़ा ने भी ट्विटर पर इंडियन एयरफोर्स की तारीफ करते हुए जय हिंद लिखा था। लेकिन अब पाकिस्तान को ये बात सहन नहीं हुईं और उन्होंने देसी गर्ल के खिलाफ सोशल मीडिया पर जंग छेड़ दी है। दरअसल प्रियंका UNICEF की गुडविल एंबेसडर हैं। ऐसे में पाकिस्तानी एक्टर्स समेत वहां के लोग पीसी को गु़डविल एंबेसडर से हटाने की मांग कर रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, प्रियंका चोपड़ा को दिसंबर 2016 में यूनिसेफ का गुडविल एंबेसडर बनाया गया था।

ऐसे में जब भारत ने पाकिस्ता को एयर स्ट्राइक के जरिए उनके दांत खट्टे किए तो पाकिस्तान के लोगों को कुछ नहीं मिला तो उन्होंने सीधे प्रियंका को निशाना बना लिया। पाकिस्तानी यूजर्स इस बात का मुद्दा बनाकर संयुक्त राष्ट्र संघ और यूनिसेफ को टैग करके एक ऑनलाइन पैटीशन शुरू कर चुके है। उनकी मांग है कि प्रियंका चोपड़ा को यूनिसेफ के गुडविल एंबेसडर पद से हटा दिया जाए। याच‍िका में कहा गया है कि- ''दो देशों के बीच अगर न्यूक्लियर वॉर होती है तो इससे सिर्फ और सिर्फ त्रासदी ही होगी।

UNICEF की ब्रैंड एंबास्डर होने के नाते प्रियंका चोपड़ा को इंडियन एयर फोर्स के फेवर में ट्वीट नहीं करना चाहिए था। एक्ट्रेस को शांति और निष्पक्षता का परिचय देने की जरूरत थी। किए गए ट्विट में कहा गया है कि, वो एक UNICEF की ब्रैंड एंबास्डर होने के नाते गलत कर रही हैं और वो यह पद डिजर्व नहीं करतीं। ऐसे में पाकिस्तान के कई लोगों ने ये पेटिशन साइन किया है। खास बात ये है कि, पाकिस्तान की तरफ से इस पेटीशन में कहीं भी जैश-ए-मोहम्मद का जिक्र नहीं हुआ है। हालांकि इस सब पर अभी प्रियंका की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

प्रियंका चोपड़ा फिर से एक बार बॉलीवुड में एक बार वापसी करने जाल रही हैं। वे सोनाली बोस के निर्देशन में बन रही फिल्म स्काई इज पिंक की शूटिंग में बिजी हैं। इस फिल्म में उनके साथ फरहान अख्तर और जायरा वासिम भी नजर आएंगी। इसकी रिलीज डेट, 11 अक्टूबर, 2019 रखी गई है।