रणबीर कपूर पर किया 50 लाख का मुकदमा, रणबीर ने किराएदार पर रेंट ना देने का आरोप लगाया

11 months ago

रणबीर कपूर इन दिनों अपनी लास्ट ब्लॉकबस्टर फिल्म संजू की सफलता को एंजॉय कर रहे और फिल्म को मिली तारीफों के बाद सातवें आसमान पर बैठे रणबीर कपूर के लिए आई है एक बुरी खबर। बैठे बिठाए रणबीर से एक कॉन्ट्रोवर्सी की तार जुड़ गई हैं और रणबीर कपूर फंस गए हैं लीगल मुसीबत में। खबर है कि रणबीर पर उनके पुणे अपार्टमेंट के किराएदार ने  50 लाख का मुकदमा उनपर कर दिया है । 

आपको बता दें  पुणे के कल्याणी नगर के ट्रम्प टावर्स में रणबीर का एक लैविश अपार्टमेंट है.जिसे अक्टूबर 2016 में उन्होंने लीज पर दिया था.और अब रणबीर के किरायदार ने उनपर रेंटल एग्रीमेंट फॉलो ना करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। शीतल सूर्यवंशी नाम के टीनेंट ने रणबीर पर अलीगेशन लगाए हैं उन्हें रेंटल एग्रीमेंट के मुताबिक मिले तय सीमा से पहले ही रणबीर ने घर से निकाल दिया है।  किराएदार ने  घर से निकालने की वजह से हुए डैमेज और इंट्रेस्ट की मांग की है। रणबीर के खिलाफ फाईल की गई कंप्लेन में कहा गया है कि अचानक बेदखल किए जाने की वजह से उनकी फैमिली को काफी  मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

किराएदार का आरोप है कि  ऱणबीर की तरफ से 24 महीने का रेंटल अग्रीमेंट बनवाया गया था लेकिन रणबीर ने उन्हें इंफॉर्म किया कि वो अपने घर में शिफ्ट करना चाहते हैं और अपार्टमेंट में शिफ्ट करने के 11 महीने बाद ही उन्हें फ्लैट खाली करने को कहा गया जिसके बाद उन्होंने अक्टूबर 2017 में फ्लैट में खाली कर दिया।  इस पूरे मामले पर रणबीर की रिएक्शन भी आया है, रणबीर ने इन सभी आरोपों को सरासर गलत बता दिया। रणबीर का कहना है कि वो ना तो इस फ्लैट में शिफ्ट कर रहे थे और ना ही उन्होंने अपने टीनेंट को इसे खाली करने को कहा था । रेंटल अग्रीमेंट भी सिर्फ 12 महीने का था। यही नहीं उनकी किराएदार ने अपनी मर्जी से फ्लैट खाली किया । फ्लैट खाली करने से पहले 3 महीने का रेंट उन्होंने नहीं दिया था जो उनके डिपोजिट किए गए अमाउंट से डिडिक्ट कर लिया गया।