single-post

भारत की ओर से ऑस्कर अवॉर्ड्स में भेजी गई रणवीर-आलिया की फिल्म 'गली बॉय'

Sept. 21, 2019, 7:10 p.m.

बॉलीवुड फिल्म गली बॉय को भारत की तरफ से 92 वें ऑस्कर पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया गया है। ऑस्कर में बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म की कैटेगरी में इस फिल्म को भारत की ओर से भेजा गया है। इस फिल्म में लीड रोल में रणवीर सिंह और आलिया भट्ट हैं, जबकि इसे निर्देशित जोया अख्तर ने किया है। इससे पहले फिल्म 'गली बॉय' को मेलबर्न के भारतीय फिल्म फेस्टिवल 2019 में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला था।बता दें कि ऑस्कर्स अवॉर्ड्स में भारत की ओर से भेजी जाने के लिए फिल्मों के नाम पर विचार किया जा रहा था। इस रेस में भारत की ओर से उरी-द सर्जिकल स्ट्राइक, केसरी, बधाई हो, आर्टिकल 15 और अंधाधुन जैसी फिल्मों पर विचार किया जा रहा था। वहीं पिछले साल भारत की ओर से 'विलेज रॉकस्टार' को 91 वें ऑस्कर पुरस्कारों के लिए नॉमिनमेट किया गया था। 

गली बॉय को दक्षिण कोरिया में 23वें बुकियॉन इंटरनेशनल फैंटास्टिक फिल्म फेस्टिवल (बीआईएफएएन) में नेटवर्क फॉर द प्रोमोशन ऑफ एशियन सिनेमा (एनईटीपीएसी) का अवॉर्ड जीता था। बता दें कि जोया अख्तर की 'गली बॉय' मुंबई के धारावी के स्लम रैपर्स से प्रेरित कहानी है।'गली बॉय' की कहानी मुराद शेख (रणवीर सिंह) है। जिसका पिता दूसरी शादी कर लेता है और उसकी अम्मी के साथ मारपीट करता है। मुराद की गर्लफ्रेंड सफीना (आलिया भट्ट) है जो बहुत ही आक्रामक है औऱ मुराद के लिए कुछ भी कर सकती है। मुराद कॉलेज में पढ़ता है लेकिन उसके पिता का एक्सिडेंट हो जाता है और उसे ड्राइवरी करनी पड़ती है।

 लेकिन हालात मुराद को तोड़कर रख देते हैं, और उसे रैप में उम्मीद की किरण दिखती है और उसकी मुलाकात एमसी शेर (सिद्धांत चतुर्वेदी) से होती है और फिर रैप जिंदगी के तोड़ देने वाले सफर के बीच राहत की बयार लेकर आता है। लेकिन मुराद का संघर्ष खत्म नहीं होता है। 

जोया अख्तर ने कमाल का डायरेक्शन किया है और कहानी कहीं भी बोर नहीं होने देती। फिल्म बताती है कि हर किसी में टैलेंट होता है, और जरूरत उसे पहचानकर उसके लिए सबकुछ झोंक देने की होती है।