Republic Day Spl- वक्त के साथ बदलती गई बॉलीवुड की देशभक्ति, देखिए

11 months ago

पूरे देश में आज गणतंत्र दिवस मनाया जा रहा है । हमारे देश में इस दिन की महत्वत्ता सबसे अलग है । इस दिन भारत का संविधान लागू हुआ था । लेकिन देशप्रेम दिखाने के लिए जो कोशिश बॉलीवुड ने की वो वाकई अलग है । उस दौर से लेकर इस दौर को अगर देखा जाए तो देशभक्ति पर बनी फिल्मों में काफी बदलाव आया है । पहले फिल्मों में देशभक्ति बॉर्डर पर लड़ाई के रूप में दिखाई जाती थी । लेकिन अब धीरे धीरे सिनेमा बदल रहा है और अब देशभक्ति जासूसी और आतंक के नए रूप में होती है । आइए उन्हीं फिल्मों के बारे में जानते हैं ।

Image result for Naya Daur

नया दौर- साल 1957 में आई ये फिल्म एक अलग ही देशभक्ति को बयां करती है । फिल्म में दिलीप कुमार और वेजयंती माला थे । इस फिल्म को बी. आर. चोपड़ा ने बनाया था। आज भी इस फ़िल्म का संगीत बड़े चाव से सुना जाता है। इस फ़िल्म को रंगीन करने में तीन वर्ष से भी ज़्यादा का समय लगा। इस फ़िल्म ने जो संदेश उस समय दिया था वो आज के समय में भी उतना ही प्रसिद्ध है। उस समय की ये एक क्रांतिकारी फ़िल्म मानी गयी थी । फ़िल्म ‘नया दौर’ में मशीन और मनुष्य के बीच की लड़ाई और फिर मनुष्य की जीत को दिखा गया है।

मदर इंडिया- इस फिल्म को कौन नहीं जानता होगा । साल 1957 में आई ये फिल्म अबतक की सबसे अलग फिल्म है । फिल्म ऑस्कर तक पहुंचने वाली पहली भारतीय फ़िल्म है । महबूब ख़ान द्वारा लिखित और निर्देशित 'मदर इंडिया' में नर्गिस, सुनील दत्त, राजेंद्र कुमार और राज कुमार ने मुख्य भूमिका निभाई थी।

हकीकत- साल 1964 में आई ये फिल्म देशभक्ति के नाम रही । इस फिल्म में बलराज साहनी, धर्मेंद्र, प्रिया आनंद जैसे स्टार्स थे । फिल्म की कहानी साल 1962 में हुए भारत-चीन के युद्ध पर बेस्ड थी ।

 

इन फिल्मों के बाद धीरे धीरे वक्त बदलता गया औऱ फिल्मों की कहानी और देशभक्ति को दिखाने का तरीका भी बदला । शाहरुख खान की फिल्म दिल से और मिशन कश्मीर ऐसी फिल्में हैं जिनमें एक अलग ही देशभक्त नजर आई । इन फिल्मों ने अपनी अलग कहानी के साथ इनर टेररिज्म को दिखाया । बढ़ती युवा पीढी के साथ बदलते विज्ञान के दौर में फिल्मों का चलन भी बदल गया ।

Related image

स्वदेश- शाहरुख खान की फिल्म स्वदेश एक अलग देशभक्ति को दिखाती दिखी । फिल्म को आशुतोष गोवारिकर ने बनाया । फिल्म में शाहरुख एक एनआरआई के रोल में नजर आए । लेकिन उनका देशप्रेम और उनका उनकी मिट्टी से प्यार उनकी देशभक्ति को दिखाता दिखा । फिल्म में करप्शन औऱ डेवलेपमेंट की समस्या को दिखाया गया । स्वदेश पहली फिल्म है जिसे नासा में शूट किया गया था ताकि फिल्म रियल लग सके

रंग दे बसंती- राकेश ओमप्रकाश मेहरा की बेहतरीन फिल्मों में से एक है । फिल्म में आमिर खान , कुणाल कपूर, सिद्धार्थ, आर माधवन और सोहा अली खान मुख्य भूमिका में थे । इस फिल्म में भी करप्शन औऱ डेवलेपमेंट की समस्या को दिखाया गया फिल्म के गाने आज भी लोगों की जुबां पर है । फिल्म एक अलग ही देशभक्ति को दिखाती नजर आई ।

 

आज के दौर में अब फिल्में बदल रही है । बजरंगी भाईजान, बेबी, एयरलिफ्ट जैसी फिल्में लोगों को समाज के आइने के साथ साथ एक देशप्रेम भी दिखा रही हैं । इन फिल्मों में अलग ही देशभक्ति देखने को मिलती है । अक्षय कुमार की फिल्में तो देशप्रेम का ही पाठ पढ़ाती है । चाहे वो महिलाओं और पुरुषों की टॉयलेट समस्या पर बनी टॉयलेट एक प्रेमकथा हो या फिर बेबी एक इंटेलिजेंस ऑफिसर की हो । फिल्मों की कहानी भले ही अलग हो लेकिन मक्सद सबका देशभक्ति से ही है ।