अपनी पहली फिल्म के डायरेक्टर के प्यार में पड़ गई थीं साधना

1 years ago

आज है 60 के दशक की सबसे फैशनेबल एक्ट्रेस साधना का जन्मदिन। आज साधना हमारे बीच होतीं तो अपना 77 वां जन्मदिन मना रही होती। ‘मेरा साया', ‘वो कौन थी' और ‘वक्त' जैसी यादगार फ़िल्में देने वाली साधना को भारतीय फ़िल्म जगत में बालों का एक नया स्टाइल शुरु करने का श्रेय जाता है।अपनी पहली ही हिंदी फिल्म लव इन शिमला की शूटिंग के दौरान साधना को फिल्म के डायरेक्टर आर के नैय्यर से प्यार हो गया। तब साधना की उम्र 16 साल की थी और आर के नैय्यर 22 साल के थे। नाबालिग साधना का ये प्यार उनकी मम्मी को मंजूर नहीं था। साधना के मम्मी पापा अपनी इकलौटी बेटी की शादी सिंधी परिवार में ही करना चाहते थे। आर के नैय्यर से कानूनी कार्रवाई की धमकी देकर साधना का पीछा छोड़ देने को कहा गया, आर के नैय्यर डर गए और उन्होंने साधना का साथ छोड़ दिया। 

लेकिन कुछ साल बाद नैय्यर साधना की जिंदगी में फिर आए। एक्टर राज कपूर ने साधना और आर के नैय्यर को फिर से एक किया। लेकिन साधना की मम्मी अब भी इस प्यार के विरोध में थी। वो चाहती थी कि उनकी बेटी की शादी राजेन्द्र कुमार की तरह दिखने वाले किसी शख्स से हो । लेकिन इस बार साधना को उनके पापा का सपोर्ट मिला और उन्होंने 6 मार्च 1966 में फिल्म मेकर आर के नैय्यर से शादी कर ली। 

शादी के बाद साधना फिल्मों से सन्यास ले लेना चाहती थी उन्होंने एक परफेक्ट हाउस वाइफ बनने के लिए कुकरी क्लासेज ज्वाइन कर ली। वो फिल्मों के बजाय अपने घर परिवार पर ध्यान देने लगी। लेकिन इसी दौरान थॉयराइड की वजह से साधना की आँखों में प्रॉब्लम आ गई और इलाज के लिए उन्हें अमेरिका जाना पड़ा। 2 सालों तक वो बोस्टन में महंगा इलाज करवाती रही और जब वो वापस लौटी तो घर की फायनेंसियल कंडीशन ऐसी हो गई कि उन्हें वापस फिल्मों में लौटना पड़ा। अपनी दूसरी पारी में साधना ने इंतकाम, एक फूल दो माली और आप आए बहार आई जैसी हिट फिल्में दी। 

साधना अपना परिवार चाहती थी लेकिन एक मिसकैरिज के बाद वो कभी मां नहीं बन पाई...और इस वजह से साधना और उनके पति आर के नैय्यर में तलाक की नौबत आ गई थी लेकिन बाद में आर के नैय्यर ने साधना को मना लिया। साधना और आर के नैय्यर का साथ 1995 तक रहा सांस की बीमारी के बाद आर के नैय्यर चल बसे और साधना अकेली रह गई। 

पिछले कुछ सालों में साधना का नाम प्रॉपर्टी विवाद में कई बार उछला। सिंगर आशा भोंसले की किराएदार थी साधना और आशा ने उनपर अपने बंगले के गार्डन पर कब्जा करने का आरोप लगाया था। इससे पहले साधना का नाम विवाद युसुफ लकड़ावाला नाम के शख्स से भी हुआ था। युसुफ साधना के पड़ोसी थे और साधना ने उनपर जान से मारने की धमकी का आरोप लगाया था। साधना इस मामले में अकेली पड़ गई थी..ऐसे में सलमान खान ने उनका पूरा साथ दिया था । 25 दिसंबर 2015 को साधना की मौत हो गई। साधना लंबे समय से बीमार चल रही थी। 

 

Related Posts