89 साल की उम्र में हुआ शम्मी आंटी का निधन, अंतिम विदाई देने पहुंचे कई सितारे, देखिए तस्वीरें

11 months ago

हाल ही में बॉलीवुड की मशहूर और दमदार अभिनेत्री शम्मी का निधन हुआ है । शम्मी को लोग शम्मी आंटी के नाम से ज्यादा जानते थे । लंबी बीमारी के बाद शम्मी आंटाी निधन हो गया। उन्होंने 89 उम्र में आखिरी सांसे ली। मिल रही जानकारी के मुताबिक वे लम्बे समय से बीमार चल रही थीं और सोमवार की रात 1 बजे उनका निधन हुआ।  ​​​हाल ही में शम्मी आंटी का अंतिम संस्कार किया गया है ।

शम्मी आंटी को अंतिम विदाई देने के लिए कई सितारे पहुंचे थे । शम्मी आंटी को विदाई देने के लिए फराह खान पहुंची थी । फराह यहां अकेली नहीं थी उनके साथ यहां बोमन ईरानी भी थे । इसके अलावा संजय दत्त की बहन प्रिया दत्त भी उन्हें अंतिम विदाई देने गईं ।

लेजेंड्री एक्ट्रेस फरीदा जलाल ने भी शम्मी आंटी को नम आंखों से विदाई थी । वहीं सुशांत भी यहां नजर आए । वो भी शम्मी आंटी को अंतिम बार विदाई देने के लिए पहुंचे थे ।

बता दें कि शम्मी आंटी ने करीब 200 से ज्यादा हिंदी फिल्मों में काम किया था साथ ही वो कई टीवी सीरियल्स में भी नजर आई। 1931 में मुंबई में जन्मीं इस एक्ट्रेस का असली नाम नरगिस रबाड़ी था। नरगिस उस जमाने की एक बहुत बड़ी स्टार थीं इसलिए फिल्म डायरेक्टर तारा हरीश ने मुझे नया नाम 'शम्मी आंटी' दिया। 

जो फ़िल्म 'मल्हार' के  उनके चरित्र का नाम था। उन्होंने कई बड़े स्टार के साथ काम किया। साल 1952 में दिलीप कुमार और मधुबाला के साथ फ़िल्म 'संगदिल' में शम्मी आंटी सहनायिका की भूमिका में नज़र आयीं। पहले इनका नाम नर्गिस राबड़ी था पर इंडस्ट्री में आने के बाद ये शम्मी हो गईं।

तीन साल की उम्र में ही इन्होंने अपने पिता को खो दिया, उनका देहांत हो गया। शम्मी आंटी ने 18 साल की उम्र में अपनी पहली फिल्म की जिसका नाम था ‘उस्ताद पेड्रो’। उसके बाद ‘मल्हार’ फिल्म में अभिनेत्री ने लीड किरदार निभाया जो कि एक फ्लॉप फिल्म साबित हुई।

लेकिन वे चर्चे में तब आईं जब उन्हें दिलीप कुमार की फिल्म ‘संगदिल’ में अहम किरदार मिला।शम्मी ने अमिताभ बच्चन के साथ ‘खुदा गवाह, हम’ जैसी फिल्मों में काम किया। आखिरी बार फराह खान और बोमन इरानी की फिल्म ‘शिरीन फरहाद की तो निकल पड़ी’ में दिखी थीं।​​​​​​​