संघर्ष और जज्बे का नाम है स्मृति ईरानी, डिलीवरी के 2 दिन बाद की थी शूटिंग

3 weeks ago

लोकसभा में बीजेपी ने काफी बेहतर प्रर्दशन किया है। यूपी की अमेठी लोकसभा सीट पर पूरे देश की नजर थी, कारण था दूसरी बार यहां से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का लड़ना। कांग्रेस की परंपरागत सीट अमेठी से स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी को हरा दिया है। स्मृति ईरानी को संघर्ष के लिए जाना जाता है. टीवी करियर में भी उनके स्ट्रगल के जज्बे की सब तारीफ़ करते थे।

 अमेठी से पिछला बार चुनाव हारने के बाद भी स्मृति जुटी रहीं। आइए जानते हैं स्मृति ईरानी से जुड़ी ख़ास बातें... केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का जन्म 23 मार्च 1976 में मिडिल क्लास फैमिली में हुआ था। वो तीन बहनों में सबसे बड़ी हैं. 2001 में उन्होंने जुबिन ईरानी से शादी की थी। यह स्मृति की पहली शादी थी, लेकिन जुबिन की दूसरी शादी थी. स्मृति और जुबिन के दो बच्चे हैं। 

बेटा जोहर और बेटी जोइश। बता दें कि करियर के शुरुआती दिनों में स्मृति जब स्ट्रगल कर रही थीं तो उसी दौरान उनकी दोस्ती पारसी बिजनेसमैन जुबिन ईरानी से हुई।  स्मृति साल 1998 में मिस इंडिया कॉन्टेस्ट की फाइनलिस्ट रह चुकी हैं। स्मति ईरानी कई टीवी शोज में नजर आ चुकी हैं।

 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' शो से उन्हें पहचान मिली। शो में उनके किरदार का नाम तुलसी था, जो कि बेहद फेमस था। इसके अलावा वो कई म्यूजिक वीडियोज में भी नजर आ चुकी हैं। उनके बेटे जोहर का जन्म साल 2001 में अक्टूबर महीने में हुआ था। उस समृति चर्चित टीवी सीरियल 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' में काम करती थीं। 

एक इवेंट में स्मृति ने खुद एक्टिंग लाइफ की मुश्किलें शेयर करते हुए बताया था कि बेबी होने के 2 दिन बाद ही वो शूटिंग के लिए लौट गई थीं। स्मृति ईरानी को कई बार बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड भी मिल चुका है।

 2001, स्मृति ने 'रामायण' में सीता की भूमिका निभाई। 2008 में, स्मृति ने साक्षी तंवर के साथ एक डांस रियलिटी शो 'ये है जलवा' को होस्ट किया था।उन्होंने 'वारिस' को प्रोड्यूस किया था। 2009 में एक कॉमेडी शो 'मणिबेन डॉट कॉम' में दिखाई दी थीं। 2012 में, स्मृति ने बंगाली सिनेमा में अपने करियर की शुरुआत की।