बॉलीवुड सितारें जो बहुत कम उम्र में दुनिया छोड़कर चले गए

1 years ago

 

 

बॉलीवुड एक्टर इंदर कुमार की मौत से सदमे में है। सिर्फ 44 साल की एज में उनकी मौत हो गई। इंदर अपने पीछे एक बेटी और पत्नी को छोड़ गए हैं। बॉलीवुड में काम ना मिलने से इंदर बहुत तनाव में थे। रात को वो सोए तो सुबह उठे ही नहीं। नींद में उन्हें दिल का दौरा पड़ा। हिंदी फिल्म इंडस्ट्री कई ऐसे सितारे हैं जो कि जवानी में ही चले गए। 

दिव्या भारती  1974 – 1993  (19 साल )

90 के दशक में दिव्या भारती बहुत पॉपुलर एक्ट्रेस थी। 1992 में  1992 में दिव्याकी एक साथ 10 फिल्में रिलीज हुई और इनमें से 6 सुपर हिट रही। दिव्या श्री देवी और माधुरी दीक्षित को टक्कर दे रही थी। अचानक 5 अप्रैल 1993 को दिव्या की मौत की खबर आई। दिव्या भारती की इस अचानक हुई मौत से हर जगह सनसनी फैल गई...कि आखिर 19 साल की दिव्या की मौत कैसे हो गई। ये हादसा था या फिर हत्या। 7 अप्रैस  को दिव्या के अंतिम संस्कार के मौके पर उमड़ा पूरा बॉलीवुड । दिव्या के चाहने वालों के साथ इंडस्ट्री में भी मायूसी थी..क्योंकि बॉलीवुड का एक उभरता सितारा डूब चुका था । पुलिस ने दिव्या के केस की काफी छानबीन की। लेकिन उनकी मौत की पहले अनसुलझी ही रह गई। 19 साल की उम्र में दिव्या दुनिया से चली गई और अपने लाखों फैंस को उदास छोड़ गई।  

स्मिता पाटिल 1955 –1986 ( 31 साल ) 

80 के दशक में स्मिता पाटिल की मौैत ने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को झकझोर कर ऱख दिया था। बेटे प्रतीक को जन्म देने 15 दिन बाद ही स्मिता की मौत हो गई। स्मिता राज बब्बर की दूसरी पत्नी थी लेकिन स्मिता को इस शादी की खुशियां ज्यादा दिनों तक नसीब नहीं हुई। स्मिता मां बनने वाली थी और बेटे प्रतीक के पैदा होने के 15 दिन बाद ही वो चल बसी। 28 नंववर 1986 को प्रतीक का जन्म हुआ और प्रेगनेंसी कॉम्पलीकेशन के कारण 13 दिसंबर 1986 को स्मिता की डेथ हो गई। तब स्मिता सिर्फ 31 साल की थी।स्मिता ने बहुत छोटी जिंदगी जी लेकिन  बॉलीवुड में उन्होंने लकीर लंबी खिची। 

 

परवीन बाबी  1949 - 2005 ( 51 साल )

70 के दशक की जानी मानी एक्ट्रेस परवीन बाबी भी कम उम्र में दुनिया छोड़कर चली गई। परवीन बाबी सीज़ोफ्रेनिया और गैंगरीन जैसी बीमारी से पीड़ित थीं। कहा जाता है, अपनी बीमारी से डिप्रेस्ड परवीन नींद की गोलियां लेने लगी थीं और उन्होंने ख़ुद को दुनिया की नज़रों से दूर कर लिया था। फिर एक दिन अचानक यानि 22 जनवरी 2005 को परवीन के घर से उनकी डेड बॉडी मिली। परवीन के घर से तीन दिन पुराने अख़बार भी मिले, जिससे ये ये भी नहीं साफ़ हो सका, कि उनकी मौत की असली तारीख क्या है। परवीन की जिदगी ऐसी मिस्ट्री बन चुकी थी, कि उनके अंतिम संस्कार के लिए कोई आगे नहीं आया। 

मधुबाला 1933 –1969  ( 36 साल  ) 

अभिनेत्री मधुबाला की मौत महज 36 साल में ही  हो गई थी। इन्‍होंने 1942 में बॉलीवुड में एक बाल कलाकार के रूप में एंट्री की थी. इसके बाद इन्‍होंने नीलकमल, तराना, महल, काला पानी मुगले आजम जैसी कई बड़ी फिल्‍मों में काम किया।1969 में हार्ट की बीमारी में इनकी मौत हो गयी थी। कहा जाता है मधुबाला के दिल में छेद था। चेन्नई में एक फिल्म की शूटिंग के दौरान उनकी इस बीमारी का पता चला। कई सालों तक उन्होंने अपनी बीमारी को छुपाया लेकिन एक वक्त ऐसा आया जब वो शूटिंग नहीं कर सकती तो वो घर पर रहने लगी। करीब 10 सालों तक वो बीमारी से लड़ती रही। 10 साल तक मधुबाला बिस्तर पर पड़ी रही । बीमार मधुबाला अपने आखिरी दिनों में बहुत तन्हा रही। पति किशोर अपनी गायिकी में व्यस्त रहते और मधुबाला उनका इंतजार करती दुनिया से   23 फऱवरी 1969 को रूखसत हो गई। मधुबाला ने बहुत छोटी जिंदगी जी लेकिन अपनी फिल्मों और गजब की खूबसूरती के कारण उनकी यादें बहुत लंबी रहेंगी। 

 

मीना कुमारी  1952–1972   ( 30 साल )

ट्रेडजी क्वीन मीना कुमारी भी बहुत कम उम्र में दुनिया छोड़कर चली गईं। मीना कुमारी की मौत कम दर्दनाक नहीं थी। शराब और अकेलेपन ने मीना कुमारी को तोड़ कर रख दिया। जरूरत से ज्यादा शराब ने मीना कुमारी का लीवर खराब कर दिया और वो 31 मार्च 1972 को चल बसी।अंतिम दिनों में मीना इस कदर आर्थिक तंगी से गुजर रही थी कि उनके पास हॉस्पीटल का बिल भरने को भी पैसे नहीं थे। उनकी मौत के बाद हॉस्टीपल के एक डॉक्टर ने बिल भरा।  

जिया खान 1988-2013 (25 साल )

जिया खान ने सिर्फ 25 साल की उम्र में आत्महत्या कर ली। अमिताभ बच्‍चन के साथ 2007 में फिल्‍म निशब्‍द से जिया ने फिल्मी करियर शुरू किया था। करीब 25 साल की उम्र में ही इन्‍होंने गजनी जैसी फिल्‍में दी इसके बाद इनकी 2010 में आयी फिल्‍म हाउसफुल भी सुपरहिट रही । प्रेम में असफल होने पर जिया खान तनाव में थी और उन्होंने फांसी लगाकर जान दे दी। जिया खान के फांसी लगाने की वजह आदित्य पंचोली के बेटे सूरज पंचोली बने। सूरज पर अब भी आत्म हत्या के लिए उकसाने का केस चल रहा है। 

संजीव कुमार  1938-1985 ( 47 साल ) 

संजीव कुमार की फिल्‍मी यात्रा भी कुछ ज्‍यादा लंबी नहीं रही। फिल्‍म सीता गीता, अंगूर, कोशिश और शोले जैसी फिल्‍में सुपरहिट रहीं। संजीव कुमार भी 47 साल में ही इस दुनिया से विदा हो गये थे। संजीव कुमार अपने करियर को काफी उतार चढ़ाव के बाद बॉलीवुड में स्‍थापित कर पाये थे।

गुरु दत्त  1925-1964 ( 39 साल ) 

गुरू दत्‍त ने अपना करियर फिल्‍म प्‍यासा से शुरू किया था। इसके अलावा फिल्‍म साहिब बीबी और गुलाम, कागज के फूल में भी इन्‍होंने बेहतर भूमिका निभायी है। इस अभिनेता ने 39 साल की उम्र में 1964 में सुसाइड कर लिया था।

गीता बाली  1930 ‒1965 ( 35 साल ) 

अभिनेत्री गीता बाली भी 35 साल की उम्र में 1965 में दुनिया को अलविदा कह गयी थीं । गीता बाली ने शम्मी कपूर से शादी की थी।  लेकन सिर्फ दस सालों तक रहा गीता और शम्मी का साथ। 9 जनवरी 1965 को गीता बाली चेचक की बीमारी से चल बसी और अपने पीछे दो बच्चों को छोड़ गई। 

 

Related Posts