फिल्म बागी 2 में टाइगर बन गए मेजर गोगोई, सोशल मीडिया पर चर्चा !

1 years ago

 

 

 

टाइगर श्रॉफ की फिल्म बागी 2 अपने बिजनेस की वजह से ही नहीं बल्कि एक और वजह से भी चर्चा में हैं। इस फिल्म में टाइगर श्रॉफ आर्मी कैप्टन के रोल में हैं। फिल्म में एक सीन हुबहू वैसा ही है जैसे एक साल पहले कश्मीरी युवक फारुक अहमद डार को जीप से बांधकर मेजर गोगोई  ने घुमाया था। टाइगर श्रॉफ जीप से एक युवक को बांधकर ले जा रहे हैं। ठीक वैसे ही जैसे मेजर गोगोई ने अप्रैल 2017 में फारुक अहमद डार को जीप पर आगे बांधकर पत्थरबाजों का सामना किया था।

 कुछ लोग सोशल मीडिया पर फिल्म 'बागी-2' के इस हिस्से को रिकॉर्ड करके शेयर कर रहे हैं। शेयर करने वाले कुछ लोग रियल लाइफ में हुई इस घटना को रील लाइफ में देखकर खुशी जाहिर कर रहे हैं। वीडियो में सुनाई देती आवाजें उसी बहस से मिलती हैं, जो डार को जीप पर बांधकर घुमाए जाने के बाद सोशल मीडिया और न्यूज चैनलों की कही जाती थीं। इस सीन में जो डॉयलॉग्स हैं, वो कुछ यूं हैं. ''ह्यूमन राइट्स का उल्लंघन है ये। गाड़ी को ह्यूमन शील्ड बनाकर बाहर निकाला गया। पत्थर मारने पर इंसान को मार देना ये कौन सा रूल है? टाइगर श्रॉफ: पत्थर तक ठीक था सर। उन्हें तिरंगा नहीं जलाना चाहिए था।''

'बागी-2' के इस सीन को कुछ लोग सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए सहमति जता रहे हैं। यूजर्स फिल्म के इस सीन की तस्वीर ट्विटर पर शेयर करते हुए लिख रहे हैं, ''मेजर गोगोई की जय हो। 'बागी-2' रिलीज हो गई है और इसमें

ये सीन भी है। क्या मुझे कुछ और कहने की जरूरत भी है।''  एक यूजर ने ट्वीट किया, ''ईमानदारी से कहूं तो मेरी 'बागी-2' देखने में कोई दिलचस्पी नहीं थी। जिस सीन में मेजर गोगोई को सम्मान दिया गया है और भारतीय सेना। इन दो वजहों से ये फिल्म जरूरी देखनी चाहिए.'' एक और यूजर लिखता हैं, ''बागी-2' में टाइगर ने वही सीन दोहराया है, जिसे मेजर गोगोई ने रियल लाइफ में किया था। सेक्युलर और लिबरल लोगों को ये देखकर नींद नहीं आएगी।''