'पद्मावती' विवाद में कूदीं उमा भारती, कहा फिल्म रिलीज से पहले दिखाई जाए

1 years ago

 

 

बीजेपी और कांग्रेलस के बाद केंद्रीय मंत्री उमा भारती भी फिल्म पद्मावती के विरोध उतर आई हैं। उन्होंने टि्वटर पर एक खुला खत शेयर किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि अलाउद्दीन खिलजी एक व्यभिचारी हमलावर था । उसकी बुरी नजर पद्मावती पर थी। उमा भारती ने एक के बाद एक कई ट्वीट भी किए। इनमें लिखा है, 'रानी पद्मावती के विषय पर मैं तटस्थ नहीं रह सकती' मेरा निवेदन है कि पद्मावती को राजपूत समाज से न जोड़कर भारतीय नारी की अस्मिता से जोड़ा जाए। 

 

मेरा खुला पत्र #Padmavati pic.twitter.com/xXFqfVvlCt

— Uma Bharti (@umasribharti) November 4, 2017

 उमा भारती ने लिखा है क्यों न रिलीज़ से पहले इतिहासकार, फ़िल्मकार और आपत्ति करने वाले समुदाय के प्रतिनिधि और सेंसर बोर्ड मिलकर कमिटी बनाएं और इस पर फैसला करें। मैं अपनी बात पर अडिग हूं, भारतीय नारी के सम्मान से खिलवाड़ नहीं ।भूत, वर्तमान और भविष्य -कभी भी नहीं. कुछ बातें राजनीति से परे होती हैं, हर चीज़ को वोट के चश्मे से नहीं देख सकती । मैं तो आज की भारतीय महिला हूं. जिस स्थिति में होंगी, भूत वर्तमान और भविष्य के स्त्रियों के सम्मान की चिंता ज़रूर करूंगी।

Related Posts